रंग का समन्दर (sea of color)

ये आँखों का सतरंगी इन्द्रधनुष
ही  देख के हमें  मत समझ
उसके पीछे छिपे समुन्दर
जिसका तुम्हे अहसास तक नहीं
अगर कभी  देखो , बैठो और
उसके नमकीन पानी  से अपने  को भिगाओ
तो शायद तुम्हे मैं समझा सकूं
की तुम्हारे सामने आने से पहले
ये रंग कहीं नहीं थे , ये रंग तुम ही से थे
और तुम्हारे जाने के बाद वो रंग नहीं रहे
रहा है तौ सिर्फ नमकीन पानी का
और गहरा हुआ  समंदर
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: